OLD AGE SOLUTIONS

Portal on Technology Initiative for Disabled and Elderly
An Initiative of Ministry of Science & Technology (Govt. of India)
Brought to you by All India Institute of Medical Sciences
Select Theme . . . .

योजनाएं

कानूनी मुद्दे

वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा

वृद्धाश्रम के निदेशक

वृद्धावस्था पेंशन योजना

छूट

आयकर छूट

1.95 लाख रुपये तक वरिष्ठ नागरिकों को आयकर में छूट (बजट 2007), चिकित्सा बीमा प्रीमियम में धारा 800 के अंतर्गत अधिकतम 20,000 रुपये की कटौती की अनुमति होगी।
वित्त विधेयक 2006- वर्तमान 10,000/- रुपये की मौजूदा सीमा के स्थान पर पेंशन प्लान के अंतर्गत 1 लाख रुपये तक का निवेश किया जा सकेगा। 1 लाख रुपये की समग्र सीमा के अंतर्गत अनूसूचित बैंक में पांच वर्ष के लिए मियादी जमा खाते में जमा की गई रकम कर में कटौती के लिए मान्य होगी। लेकिन, 80 ग तथा 80 गगग (पेंशन) के अंतर्गत संयुक्त छूट अभी भी 1 लाख रुपये की ही है।


पात्रता

संबंधित गत वर्ष के दौरान 65 वर्ष या उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिक


अपेक्षित दस्तावेज (इनमें से कोई भी)
  • आयु साक्ष्य
  • राशन कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • ड्राईविंग लाईसेन्स
  • स्थाई लेखा संख्या (पैन)

छूट कैसे प्राप्त करें

आयकर विभाग से सम्पर्क करें तथा फार्म 2 (ग) भरें।

धारा 139 (1) के अंतर्गत आयकर रिटर्न भरते समय वरिष्ठ नागरिकों को "वन बाय सिक्स" योजना से छूट
(यह रिआयत वित्त मंत्रालय द्वारा प्रदान की जाती है। अद्यतन जानकारी के लिए www.indiabudget.com (http://www.cbec.gov.in/f)
Senior Citizens Saving Schemes देखें .

योजना की अवधि क्या टी डी एस लागू है
ब्याज की दर निवेश कितनी राशि के गुणकों में होना चाहिए
ब्याज परिकलन की बारम्बारता अधिकतम निवेश सीमा
कर निवेश के लिए न्यूनतम पात्रता आयु
समय पूर्व निकासी सुविधा रक्षा सेवाओँ से सेवा निवृत कार्मिक (सिविल डिफेंस क्रमियों के अलावा) भी अन्य विनिर्दिष्ट शर्तों को पूरा करने के अध्यधीन आयु सीमा पर ध्यान न देते हुए निवेश कर सकेगें
अंतरण सुविधा ट्रेडेबिलिटी भी अन्य विनिर्दिष्ट शर्तों को पूरा करने के अध्यधीन आयु सीमा पर ध्यान न देते हुए निवेश कर सकेगें
धारिता की नामांकन सुविधा धारिता के एक वर्ष के बाद उपलब्ध है लेकिन उसके लिए जुर्माना देय है।
आवेदन पत्र निम्न के पास उपलब्ध हैं अहस्तांतरणीय
एन आर आई, पी आई ओ तथा एच यू एफ पर लागू ट्रेडएबल नहीं
एक जमा कार्यालय से दूसरे जमा कार्यालय में अंतरण सुविधा नामांकन सुविधा उपलब्ध है
5 वर्ष जिन्हें और 3 वर्षों के लिए बढ़ाया जा सकता है खाता एकल अथवा संयुक्त रुप दोनों रुपों में प्रचालित किया जा सकता है। संयुक्त धारिता की अनुमति केवल पति/पत्नी के साथ ही होती है।
9 प्रतिशत प्रति वर्ष डाकघर तथा 24 राष्ट्रीयकृत बैंकों की नामित शाखाएं तथा एक निजी क्षेत्र का बैंक
त्रैमासिक ब्याज पूर्णतया करयोग्य अनिवासी भारतीय, भारतीय मूल के व्यक्ति तथा हिन्दू अविभाजित परिवारों को इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने की अनुमति नहीं है
जी हां, कर की कटौती स्रोत पर की जाएगी
1000/- रुपये
15 लाख
आवास परिवर्तन की स्थिति में एक जमा कार्यालय से दूसरे जमा कार्यालय में खाते के अंतरण की सुविधा प्रदान की जाती है।
60 वर्ष (उनके लिए जो अधिवर्षिता की आयु प्राप्त करने पर सेवा निवृत हुए हैं अथवा विशेष स्वैच्छिक सेवानिवृति योजना)। रक्षा सेवाओं के सेवानिवृत कार्मिक (सिविल डिफेंस कर्मियों के अलावा)

वर्तमान में 24 राष्ट्रीयकृत बैंक तथा निजी क्षेत्र के एक बैंक द्वारा एससीएसएस, 2004 योजना प्रचालित की जा रही है। सूची निम्नलिखित है:

भारतीय स्टेट बैंक, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक आफ इन्दौर, स्टेट बैंक आफ बिकानेर तथा जयपुर, स्टेट बैंक आफ पटियाला, स्टेट बैंक आफ सौराष्ट्र, स्टेट बैंक आफ मैसूर, स्टेट बैंक आफ ट्रावनकोर, इलाहाबाद बैंक, बैंक आफ बडौदा, बैंक आफ महाराष्ट्र, केनरा बैंक, सेन्ट्रल बैंक आफ इंडिया, कारपोरेशन बैंक, देना बैंक, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, पंजाब नैशनल बैंक, सिन्डीकेट बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक आफ इंडिया, यूनाईटिड बैंक आफ इंडिया, विजया बैंक, आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड.

(अद्यतन जानकारी के लिए http://www.rbi.org.in/scripts/FAQView.aspx?ld=62) देखें

एक वर्ष तथा उससे अधिक के लिए विभेदक दर के आधार पर सावधि जमा/विशेष सावधि जमा योजना

  • पात्रता : 60 वर्ष या इससे अधिक के वरिष्ठ नागरिक
  • प्राप्त करने की शर्त : न्यूनतम राशि : 10,000 तथा इसके बाद 1000 रुपये के गुणकों में: ब्याज का भुगतान: परिपक्कवता के समय अथवा त्रैमासिक अंतराल पर अथवा मासिक अंतराल पर (कम दर पर), जैसा भी जमाकर्ता द्वारा निर्दिष्ट किया गया हो।

(यह योजना भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रचालित की जाती है।अद्यतन जानकारी के लिए: http://www.rbi.org.in/) Senior Citizens Deposit Scheme को देखें.

इस योजना के अंतर्गत, एसबीआई टैक्स सेविंग्स योजना (एसबीआईटीएसएस) में प्रदान की जाने वाली ब्याज की दर को 27 नवम्बर, 2006 से 7.50 प्रतिशत से बढ़ाकर 8.00 प्रतिशत कर दिया जाएगा।


ब्यौरा निम्नानुसार है

परिपक्कवता अवधि ब्याज दर (प्रतिशत प्रति वर्ष) 22-01-2007 से संशोधित
1 वर्ष से 3 वर्ष से कम अवधि तक 8.75
3 वर्ष से 5 वर्ष से कम अवधि तक 8.75
5 वर्ष से 10 वर्ष से कम अवधि तक 8.75

(यह योजना भारतीय स्टेट बैंक द्वारा प्रचालित की जाती है। अद्यतन जानकारी के लिए कृपया http://www.statebankofindia.com) (http://www.statebankofindia.com/viewsection.jsp?lang=0andid=0,16,384,594) देखें

वरिष्ठ नागरिकों के लिए रुपया सावधि जमाएं

रुपया सावधि जमाओं में वरिष्ठ नागरिकों को वर्तमान में दी जाने वाली अतिरिक्त ब्याज दर में परिवर्तन किया गया है (स्टाफ के अलावा व्यक्ति)

लाभ

छह महीने अथवा अधिक की अवधि लेकिन एक वर्ष से कम की परिपक्कवता अवधि के लिए जमा पर 0.5 प्रतिशत ब्याज। 1 वर्ष या उससे अधिक की परिपक्कवता अवधि की जमाओं पर 0.75 प्रतिशत ब्याज।
घरेलू रुपया सावधि जमाओं पर संशोधित ब्याज की दरें नई जमाओं तथा सभी नवीकरणों पर लागू होंगी तथा वह भी 18.06.2007 से प्रभावी होंगी।
(This scheme is provided by Bank of India. For up date refer to: http://www.bankofindia.com/home/interestrateslinterestrate.aspदेखें

शताब्दी जमा योजना

6-8 वर्ष- 7.5% प्रतिवर्ष (नियत दर), 8 वर्ष से अधिक 10 वर्षों तक- 8% प्रतिवर्ष (नियत दर), न्यूनतम जमा: 5000 रुपये, अधिकतम: कोई सीमा नहीं। वरिष्ठ नागरिकों को 1% प्रति वर्ष अतिरिक्त ब्याज दिया जाएगा।

(यह योजना बैंक आफ इंडिया द्वारा प्रचालित की जाती है। अद्यतन जानकारी के लिए http:// www.bankofindia.com/home/whatsnew/shatabdi.asp)

भारत की स्वतंत्रता के 60 वर्ष के समारोहों के अवसर पर पंजाब तथा महाराष्ट्र को-आपरेटिव बैंक लिमिटेड की ओर से 18/08/2007 से प्रभावी करते हुए, 60 वर्ष की आयु को पूरा करने वाले वरिष्ठ नागरिकों को एफडीएसएम विशेष ब्याज दर प्रदान की जा रही है, जिसमें मासिक ब्याज दर अथवा त्रैमासिक ब्याज योजना ही प्रदान की जाती है।

जमा अवधि वरिष्ठ नागरिकों के लिए ब्याज की दर
60 महीने (एमआईसी/क्याआईसी के साथ साधारण ब्याज के आधार पर एफडीएसएम) 10.25 % प्रति वर्ष

(अद्यतन जानकारी के लिए http://www.pmcbank.com/rateofint.asp देखें )


बैंक आफ बड़ौदा की ओर से वरिष्ठ नागरिकों को प्रदान की जाने वाले सेवाएं

वरिष्ठ नागरिकों के खातों का नवीकरण

योजना के अंतर्गत एक बार वरिष्ठ नागरिकों की आयु को जमाओं को स्वीकार करने के लिए स्वीकार कर लिया जाता है तो शाखा द्वारा जमा के नवीकरण के लिए आयु के साक्ष्य की मांग नहीं की जाएगी अथवा ऐसे वरिष्ठ नागरिक से उत्तरवर्ती जमाओं को स्वीकार करते समय भी आयु का साक्ष्य नहीं मांगा जाएगा।


संयुक्त खातों पर कार्रवाई

वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष योजना के अंतर्गत संयुक्त रुप में वरिष्ठ नागरिकों से जमाओं को स्वीकार करते हुए, जिसमें दूसरे व्यक्ति की आयु साठ वर्ष से कम है, अतिरिक्त ब्याज का लाभ (सामान्य ब्याज दर से अधिक) तभी दिया जाएगा जब आवेदन में वरिष्ठ नागरिक का नाम पहले नम्बर पर होगा।


जमाओ की न्यूनतम राशि

न्यूनतम राशि संबंधी कोई प्रतिबन्ध नहीं है


अतिरिक्त ब्याज

वरिष्ठ नागरिकों से संबंधित सभी नई जमा योजनाओँ पर सभी परिपक्कवता अवधियों के लिए बैंक की शाखाओं को 1% अतिरिक्त ब्याज दर देने के लिए प्राधिकृत किया गया है तथा वरिष्ठ नागरिकों की मौजूदा जमाओं के नवीकरण पर भी यह अतिरिक्त ब्याज लागू होगा।


बड़ी राशि की जमाएं

बड़ी राशि की जमाओं के मामलों में (15लाख रुपये या अधिक), ब्याज दरों का दोहरा लाभ जमाकर्ताओं को नहीं दिया जाएगा अर्थात बड़ी राशि की जमा पर उच्च ब्याज दर/वरिष्ठ नागरिकों के लिए अतिरिक्त ब्याज दर।


वरिष्ठ नागरिकों की जमाओं के आधार पर ऋण के लिए ब्याज की दर

वरिष्ठ नागरिकों की जमाओं के आधार पर लिए गए ऋण पर जमा दर से 1.25% अधिक ब्याज दर ली जाएगी।


वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकारी बचत योजनाएं
  • यह योजना 60 वर्ष से अधिक की आयु के वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपलब्ध है (50 वर्ष, उनकी स्थिति में जो स्वैच्चिक अथवा विशेष स्वैच्छिक योजना के अंतर्गत सेवा निवृत हुए हैं)
  • जमा पर 9% ब्याज दर है, तथा इसका भुगतान त्रैमासिक आधार पर किया जाता है। तथापि, ब्याज पूर्णतया करयोग्य है।
  • जमाकर्ताओं को नामांकन की सुविधा उपलब्ध है
  • जमा 1000 रुपये के गुणकों में की जा सकती है तथा अधिकतम निवेश की राशि 15,00000/- रुपये है।
  • जमा की अवधि 5 वर्ष है जिसे अन्य 3 वर्षों के लिए बढ़ाया जा सकता है।
  • जुर्माने के भुगतान पर समय पूर्व निकासी की सुविधा एक वर्ष के उपरांत उपलब्ध है।
  Copyright 2015-AIIMS. All Rights reserved Visitor No. - Website Hit Counter Powered by VMC Management Consulting Pvt. Ltd.